ITR Filing: Keep these documents ready while filing income tax return, there will be no problem

0
161
ITR Filing: Keep these documents ready while filing income tax return, there will be no problem
ITR Filing: Keep these documents ready while filing income tax return, there will be no problem

ITR Filing: If you are going to file income tax return for the first time then it is important to keep some things in mind. Keep these documents ready while filing ITR.

TR Filing: देशभर के करोड़ों टैक्सपेयर्स के लिए जरूरी खबर है. वित्त वर्ष 2022-23 और असेसमेंट ईयर 2023-24 के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है.

- Advertisement -

TR Filing: There is important news for crores of taxpayers across the country. The process of filing income tax returns for the financial year 2022-23 and assessment year 2023-24 has been started.

31 जुलाई, 2024 तक सभी टैक्सपेयर्स को आईटीआर फाइल करना आवश्यक है. इसके बाद आपको आईटीआर फाइल करने पर जुर्माना देना पड़ेगा. इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते वक्त टैक्सपेयर्स को अलग-अलग दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है. ऐसे में अगर यह डॉक्यूमेंट्स न मिलें तो कई बार परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

It is mandatory for all taxpayers to file ITR by July 31, 2024. After this, you will have to pay a penalty for filing ITR. Taxpayers need different documents while filing income tax return. In such a situation, if these documents are not available, then many times you may have to face trouble.

इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करते वक्त फॉर्म-16 होना बहुत आवश्यक है. फॉर्म-16 नियोक्ता जारी करते हैं. अगर आपने इस वित्त वर्ष नौकरी बदली है तो पुरानी कंपनी से फॉर्म-16 लेना आवश्यक है.

It is very important to have Form-16 while filing income tax return. Form-16 is issued by the employer. If you have changed your job this financial year, then it is necessary to get Form-16 from the old company.

फॉर्म-16 के साथ-साथ टैक्सपेयर्स के पास इंटरेस्ट सर्टिफिकेट होना आवश्यक है. अगर आपने एफडी जैसी स्कीम्स में निवेश किया है तो इसकी जानकारी इनकम टैक्स विभाग को देना आवश्यक है.

Along with Form-16, taxpayers must have an interest certificate. If you have invested in schemes like FD, then it is necessary to give its information to the Income Tax Department.

इसके साथ ही अगर आप शेयर मार्केट और म्यूचुअल फंड जैसी स्कीम्स में निवेश करते हैं तो इन सभी निवेश के जरिए होने वाली कमाई का ब्योरा देना आवश्यक है. निवेश के जरिए कैपिटल गेन के डिटेल्स आईटीआर में दर्ज करना आवश्यक है.

Along with this, if you invest in schemes like stock market and mutual funds, then it is necessary to give details of the income earned through all these investments. It is necessary to enter the details of capital gains through investments in ITR.

इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करते वक्त किसी भी जानकारी को न छुपाएं. इससे आपको बाद में बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है.

Do not hide any information while filing income tax return. This may cause you big trouble later.

- Advertisement -